26 अप्रैल से स्मार्ट सिटी का काम शुरू होगा

दिंनाक: 14 Apr 2016 10:47:34


जेएससीएल का मोनो और बैंक खाता तय होने के बाद 26 अप्रैल से स्मार्ट सिटी का काम शुरू हो जाएगा। पहला काम स्मार्ट सिटी के 743 एकड़ क्षेत्र यानी राइट टाउन, नेपियर टाउन और गोल बाजार के 11 हजार घरों में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन से शुरू होगा। इसके बाद इस क्षेत्र में 24 घण्टे 7 दिन पानी तथा स्मार्ट जे कार्ड की व्यवस्था शुरू होगी। स्मार्ट सिटी के सीईओ ने बुधवार को सभी विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर इसके निर्देश जारी कर दिए हैं।

स्मार्ट सिटी के लिए केन्द्र से मिलने वाली राशि अभी नहीं पहुंची है, इसलिए निगम अभी ऐसे काम शुरू करने जा रहा है जो उसके स्तर पर बिना ज्यादा खर्च किए हो सकते हैं। हालांकि डोर टू डोर कचरा कलेक्शन का काम पूरे शहर में भी होना है, लेकिन उसमें अभी समय है क्योंकि तीसरी बार टैण्डर प्रक्रिया में है। स्मार्ट सिटी में रेट्रोफिटिंग और रिडेवलपमेंट के काम बाद में शुरू किए जाएंगे क्योंकि उनके लिए सबसे पहले कंसलटेंट की व्यवस्था की जाएगी।

स्मार्ट सिटी की सभी संपत्तियों का नगर निगम सर्वे कराएगा। यह काम गुरुवार से शुरू हो जाएगा। इसमें व्यावसायिक संपत्तियों और रहवासियों की गणना अलग-अलग की जाएगी। इसके अलावा बड़े अपार्टमेंटों में रहने वाले परिवारों की भी गिनती होगी।

स्मार्ट सिटी में यह व्यवस्था शुरू करने नगर निगम ने तीनों वार्डों के सीएसआई सहित वार्ड सुपरवाईजर से सूची मांगी है कि उन्हें क्या सामग्री लगेगी। यह सामग्री 25 मई तक उपलब्ध करा दी जाएगी। इसके अलावा नगर निगम तीनों वार्डों में कचरा कलेक्शन के लिये 10-10 रिक्शे लगाएगा।

ऐसे होगा डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन:

•  इस व्यवस्था के लिये निगम अलग से कर्मचारी तैनात करेगा।

• घरों में दो डस्टबिन लाल और हरे रखे जाएंगे।

• 10-10 रिक्शे लगेंगे एक वार्ड में।

• व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से दो बार उठेगा कचरा।

• अपार्टमेंट के नीचे बड़ा कंटेनर रखा जाएगा ताकि लोग उसमें ही कचरा डालें।

• पूरी व्यवस्था का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

•  घरों से कचरा सुबह 10 बजे तक तथा व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से सुबह 12 तक तथा रात में 9 से 12 बजे तक कचरा उठाया जाएगा।

डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन व्यवस्था शुरू करने से पहले नगर निगम हर घर में दो डस्टबिन रखेगा। इसमें एक लाल और दूसरा हरा डस्टबिन रहेगा। लाल में लोगों को सूखा और हरे में गीला कचरा रखना होगा ताकि उसे अलग- अलग ही उठाया जा सके।

नगर निगम रहवासी मकानों से एक बार तथा होटल या अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से दिन में दो बार कचरा उठाने की व्यवस्था रहेगी। इतना ही नहीं नगर निगम यह पूरी व्यवस्था फ्री में करेगा। यानी अभी मकान या रहवासी संपत्तियों से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लेगा।

स्मार्ट सिटी के क्षेत्र में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन का काम 26 अप्रैल से शुरू कर दिया जाएगा। इसको लेकर बुधवार को अधिकारियों की बैठक में उन्हें निर्देश जारी कर दिए गए हैं।