रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु से ब्रॉडगेज परियोजना तथा इलेक्ट्रिफिकेशन परियोजना सहित जबलपुर के रेल विकास के मुद्दों पर चर्चा

दिंनाक: 06 May 2016 11:16:05


जबलपुर से गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना के काम को पूरा करने के लिए अब किसी प्रकार की कोई भी तकनीकी और अनुमति संबंधी बाधा नहीं है इसलिए इस कार्य को अब जल्द से जल्द पूरा करने के लिए रेलवे के द्वारा हर संभव प्रयास किये जायें। यह आग्रह हमने रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु से मुलाकात के दौरान किया। जिसके प्रतिउत्तर में श्री प्रभु ने आश्वस्त किया कि इस महत्वपूर्ण परियोजना का काम निर्धारित समय-सीमा में पूरा हो इसके लिए रेल विभाग अपनी ओर से कोई कसर नहीं रखेगा।
हमने श्री प्रभु से मुलाकात के दौरान रेल मंत्री को इस महत्वपूर्ण परियोजना के साथ ही इलाहाबाद-इटारसी खण्ड के विद्युतीकरण परियोजना के लिए किये गये बजट आवंटन के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना जिसका शिलान्यास वर्ष 2001 में श्रद्धेय अटल जी के नेतृत्व में एनडीए सरकार के दौरान हुआ था और 511 करोड़ रू. की इस परियोजना को वर्ष 2010 में पूरा हो जाना था लेकिन यूपीए 1 एवं 2 की सरकारों के कार्यकाल के दौरान यह परियोजना पिछड़ती चली गयी और इसकी लागत बढ़कर आज वर्तमान में 1638 करोड़ रू. हो गयी है। साथ ही इस परियोजना में एक बड़ी बाधा फारेस्ट्री क्लीयरेंस एवं वाइल्ड लाइफ क्लीयरेंस की थी जो कि लगातार प्रयासों के चलते अब एनडीए सरकार आने के बाद दूर हो चुकी है और इस परियोजना के कार्य में कोई बाधा शेष नहीं है। एनडीए सरकार आने के बाद आपके द्वारा रेल बजट में पर्याप्त बजट का आवंटन भी किया जा रहा है। जरूरत इस बात की है कि यह परियोजना शीघ्र-अतिशीघ्र निर्धारित समय-सीमा में प्रारंभ हो और इसमें अब और विलम्ब न हो इसके लिए सतत् मानिटरिंग की जाये जिससे यह परियोजना शीघ्र पूरी हो सके। इसके पूरा होने से जहां उत्तर से दक्षिण की दूरी लगभग 275 कि.मी. कम होगी जिससे न केवल जबलपुर सहित सम्पूर्ण महाकौशल के विकास को गति मिलेगी वहीं रेलवे को भी एक अतिरिक्त ट्रेक उपलब्ध होगा और रेलवे को राजस्व की भी बचत होगी।
साथ ही हमने रेलमंत्री श्री प्रभु से एक और महत्वपूर्ण परियोजना इलाहाबाद-जबलपुर-इटारसी खण्ड के रेल विद्युतीकरण के कार्य को भी निर्धारित समयसीमा में पूरा करवाने का आग्रह करते हुए जबलपुर के रेल विकास से संबंधित अनेक विषयों पर विस्तार से चर्चा की। चर्चा के दौरान रेल मंत्री श्री प्रभु ने हमें आश्वस्त किया कि दोनों महत्वपूर्ण परियोजनाओं को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए रेल मंत्रालय और विभाग हर आवश्यक कदम उठाये जायेंगे।