लोकसभा क्षेत्र हेतु सांसद श्री राकेश सिंह द्वारा पर्यटन विकास हेतु किये गये सार्थक प्रयास

• जबलपुर को टूरिस्ट हब बनाने हेतु संस्कारधानी के सुप्रसिद्ध पर्यटक स्थल भेड़ाघाट में नर्मदा महोत्सव की शुरूआत कराई गयी।

• पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु बरगी डेम में क्रूज की मांग की गई और अथक प्रयासों के बाद बरगी डेम में बरगी से (तिंदनी) कान्हा जलमार्ग पर कू्रज का सफल संचालन कराया गया।

• बरगी डेम में बैक वॉटर टूरिज्म को बढ़ावा देने साहसिक खेलों (Adventure Sports) का कार्य लगभग पूर्णता की ओर हैं और शीघ्र ही इसे पूरा कर लिया जायेगा ।

• करौंदी स्थित भारत का केंद बिन्दु ‘‘जीरो प्वाइंट’’ को देश के पर्यटन मानचित्र पर लाने हेतु सफल प्रयास किया गया।

• जबलपुर में पर्यटन की अपार सम्भावनाओं को देखते हुए डुमना में उपेक्षित वन क्षेत्र को चिन्हित कर उसे डुमना नेचर रिजर्व के रूप में विकसित किया गया।
• जबलपुर में पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु राज्य सरकार द्वारा कन्सोलिडेटेड प्रस्ताव पर्यटन मंत्रालय,भारत सरकार को भेजा गया जिसमें जबलपुर एवं आस-पास के क्षेत्रों में पर्यटनीय सौंदर्यीकरण के साथ जबलपुर को मेगा सर्किट में चिन्हित करना शामिल था। लगातार प्रयासों एवं पत्राचार के फलस्वरूप वर्ष 2011 में जबलपुर को मेगा सर्किट के रूप में चिन्हित कराकर भारतीय पर्यटन मानचित्र में शामिल कराने की सफलता मिली। इसी क्रम में जबलपुर में टूरिस्ट हब बनाने के लिए 50 करोंड़ की राशि स्वीकृत करायी गई। जिसमें निम्नलिखित महत्वपूर्ण परियोजनाए शामिल है -
• भेड़ाघाट में पर्यटक सुविधाओं के साथ लेजर शो प्रारंभ किया जायेगा जिसकी थीम लम्हेटाफार्मेशन होगी जिसमें विश्व की महत्वपूर्ण विरासत चौसठ योगनी और कल्चुरी कालीन संस्कृति का समावेश होगा। (कार्य पूर्णता की ओर है)
• गौड़कालीन मदनमहल किले पर लाइट एण्ड साउण्ड शो प्रारंभ किया जायेगा जिसमें इस किले का सामरिक महत्व, रानी दुर्गावती की वीरता एवं गौड़कालीन जल व्यवस्था आदि को बताया जायेगा। (केंद्र से फण्ड न मिलने के कारण अभी अधुरा है)
• शहर से 30 कि.मी. की दूरी पर प्राकृतिक सुन्दरता की छटा बिखेरता एवं विशाल जल राशि वाला बरगी बांध है जहां अथक प्रयासों से क्रूज और बैक वॉटर स्पोर्टस को सफलतापूर्वक प्रारंभ होने के बाद अब कमाण्डो नेट, टनल वाक, मंकी क्रावलिंग, बर्मा ब्रिज, एक्सोरबिंग बाल, रिपलिंग जैसे अन्य साहसिक खेलों को प्रारंभ किया जायेगा। (पूर्णता की ओर है)
• करौंदी स्थित देश के भौगोलिक केन्द्र को पर्यटन स्थल रूप में सौंदर्यीकरण किया जायेगा।
• वीरांगना रानीदुर्गावती की धरोहर संग्राम सागर में जीर्णशीर्ण अवस्था को सौंदर्यीकरण व इसमें घाटों का निर्माण प्रारंभ। (कार्य पूर्णता की ओर है)
• जबलपुर में फ़ूड क्राफ्ट इंस्टिट्यूट की मांग मेरे द्वारा उठाई गई थी और उसके लिए केंद्र सरकार द्वारा 4.75 करोड़ तथा राज्य सरकार द्वारा 1.40 करोड़ रुपये स्वीकृत किये गए थे द्य इसका भवन निर्माण हो चूका हैं इसका पहला सत्र भी प्रारम्भ हो चूका है द्य इसके प्रारम्भ होने से विभिन्न डिप्लोमा कोर्स प्रारम्भ होंगे जिनमे 6 ट्रेड होंगे जैसे कैटरिंग, रेस्टोरेंट, हाउस कीपिंग, कन्फेकश्नरी, अकाउंट Nutrician, एंड फ़ूड साइंस । यह जुलाई के अंत तक डिप्लोमा कोर्स शुरू करने की योजना है । इसकी स्थापना डुमना एअरपोर्ट रोड में की गई है।

ब्लॉग